फर्जी कोरोना आरटीपीसीआर रिपोर्ट की पारदर्शिता से चल रही जांच।

देहरादून : भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि झूठ परोसने में माहिर आम आदमी पार्टी की नौटंकी में उतराखण्ड की जनता नहीं आने वाली है। आप के प्रदर्शन पर उन्होंने कहा कि आप प्रदेश में अपना राजनैतिक अस्तित्व तलाश रही है और तरह तरह के ढोंग और प्रलाप कर रही है। जबकि कोरोना काल में उसकी सच्चाई  सामने आ चुकी है। कथित ईमानदारी का दम्भ भरने वाली पार्टी के भ्रमित कर्यकर्ताओ को कोरोना के दौरान दिल्ली की अव्यवस्थाओं को लेकर अपने नेतृत्व से पूछना चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली में टेस्टिंग सबसे कम और यहाँ तक की फर्जीवाड़ा तक सामने आया। वहीं संक्रमण और डेथ रेट के मामलो में दिल्ली टॉप पर है।

प्रदेश मीडिया प्रभारी चौहान ने कहा कि देश में सबसे अधिक दयनीय हालत दिल्ली में है। तमाम तरह के झूठे दावे और यहा तक की अदालत तक को भी गुमराह करने में केजरीवाल सरकार पीछे नहीं रही। लेकिन रोजाना झूठ परोसने में पीछे नहीं। जहां तक उतराखण्ड का सवाल है तो सरकार के बेहतर प्रबंधन के कारण कोरोना पर काफी हद तक काबू किया है। हरिद्वार् में आरटीपीसीआर रिपोर्ट में गड़बड़ी का संज्ञान खुद सरकार ने लिया और वर्तमान में एसआइटी जांच कर रही है। जल्द ही रिपोर्ट आएगी और आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। इसलिए आप और कांग्रेस में मुद्दे को लेकर प्रतिस्पर्धा चल रही है। आप भी राजनैतिक ज़मीन सेवा कार्य के बजाय धरना प्रदर्शन के जरिये हासिल करना चाहती है, लेकिन जनता उसके पाखंड को बेहतर ढंग से जानती है। दिल्ली के मोहल्ला कलीनिक करोड़ों खर्च होने के बाद ऐन मौके पर काम नहीं आए तो सरकार ने लोगो को आक्सीमीटर और दवा पहुचाने के बजाय शराब की होम डिलीवरी को प्राथमिकता दी।
अपनी राजनैतिक नौटंकी के जरिये लोगो के बीच भ्रम की स्थिति उत्पन्न कर एक तरह से वह सामाजिक प्रदूषण भी फैला रही है। उन्होंने कहा कि आप का सिद्धान्त है कि झूठ परोसे और इसे अभियान के तौर पर जोर जोर से समूह में बोले,लेकिन सच सच ही रहता है। यही कारण है कि आप दिल्ली से बाहर कहीं ज़मीन नहीं तलाश पायी। अक्सर दुष्प्रचार के जरिये चल रही पार्टी पर अब कोई भरोसा नहीं कर रहा है और उसकी स्थिति भी बिना पायलेट के जहाज जैसी हो गई है।

60 thoughts on “फर्जी कोरोना आरटीपीसीआर रिपोर्ट की पारदर्शिता से चल रही जांच।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *